गरीब किसान को मिला 60 लाख का हीरा। हो गया मालामाल

गरीब किसान को मिला 60 लाख का हीरा। हो गया मालामाल

गरीब किसान को मिला 60 लाख का हीरा। हो गया मालामाल
70 के दशक में एक फिल्मी गाना पन्ना की तमन्ना है कि हीरा मुझे मिल जाए खूब चला था । मध्यप्रदेश के जिले पन्ना की धरती में ऐसी ही खासियत है कि कब किसकी किस्मत खुल जाए यह कोई नहीं जानता है । यहां मिनटों में कई लोग खाखपति से करोड़पति बन जाते हैं ।

ऐसा ही कुछ हुआ है , पन्ना के एक किसान लखन यादव के साथ जिन्हें 60 लाख रुपये का हीरा मिला है । किसान लखन यादव ने पिछले महीने 10 गुणा 10 फीट की जमीन 200 रुपये में लीज पर ली थी । महीने भर के अंदर ही लखन यादव की किस्मत पर लगा ताला खुल गया । और अब वह लखपति बन गए हैं । उनके हाथ लाखों का हीरा लग गया है ।

अब लखन यादव की खुशी का ठिकाना नहीं है । किसान लखन यादव ने इस जमीन पर दिवाली के बाद खनन शुरू किया था ।

क्यों निकलता है पन्ना की धरती पर हीरा


जब भारत में मुगलों का शासन था उस समय महाराजा छत्रसाल का शासन पन्ना सहित बुंदेलखंड के बहुत से क्षेत्रों पर था। औरंगजेब चाहकर भी महाराजा छत्रसाल से जीत नहीं पा रहा था। क्योंकि महाराजा छत्रसाल को निर्देशित करने बाले थे उनके गुरु स्वामी प्राणनाथ जी। महामति श्री प्राणनाथ जी को परमात्मा श्री कृष्ण का अवतार कहा जाता है।
एक बार महाराजा छत्रसाल को औरंगजेब से युद्ध करने के लिए। बहुत से धन की आवश्यकता थी जिससे वह अपनी सेना को शक्तिशाली बना सकें। छत्रसाल की चिंता को देख कर स्वामी प्राणनाथ जी ने उन्हें आशीर्वाद दिया। कि वह अपना घोड़ा सुबह से लेकर शाम तक जितने भी क्षेत्र में घुमा देंगें उतनी जगह पर हीरा निकलने लगेगा। उसी समय से पन्ना की धरती से हीरा निकल रहा है।

महाकवि भूषण ने भी लिखा है।

छत्ता तेरे राज में धक-धक धरती होय
जित जित घोड़ा पग धरे उत उत हीरा होय

देखें वीडियो 👇👇

Article Top Ads

Article Center Ads 1

Ad Center Article 2

Ads Under Articles