इतिहास को बदलने बाला सुप्रीम कोर्ट का फैसला 5 अगस्त को मूर्त रूप ले चुका है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 5 अगस्त को अयोध्या जाकर राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन किया। इस आयोजन में लगभग 190 लोंगों को आमंत्रित किया गया था।



वहीं एक शख्स जो कि भूमि पूजन में आमंत्रित न किये की वजह से इतने नाराज हुए की अयोध्या में सरयू नदी में जल समाधि लेने चल दिये। लेकिन उत्तर प्रदेश पुलिस ने उन्हें लखनऊ में ही गिरफ्तार कर लिया। ये शख्स हैं कुंवर मोहम्मद आजम खान जो कि मुस्लिम कारसेवक मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं।


आजम खान ने कहा कि वो भी श्रीराम के भक्त हैं। उन्होंने भी श्रीराम जन्मभूमि के लिए बहुत संघर्ष किया है। लेकिन उन्हें राम मंदिर निर्माण के भूमि पूजन में आमंत्रित नहीं किया गया। उन्हीं के समाज से इकबाल अंसारी भी आते हैं। उन्होंने और उनके पिता ने राम मंदिर को बनने से रोका। राममंदिर जन्मभूमि के विरोधी रहे। उन्हें आमंत्रित किया गया लेकिन मुझे क्यों नहीं किया गया।

भूमि पूजन में न बुलाये जाने के कारण आजम खान इतने नाराज हुए की उन्होंने साधु का भेष धारण कर अयोध्या की सरयू नदी में जल समाधि लेने के लिए चल दिये लेकिन उन्हें लखनऊ पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया!