यह पूरी घटना गुजरात की है। भाखा गाँव की रहने वाली अफसाना सबरिश रफीक को रात्रि 10:20 को अचानक लेबर पेन सुरु हो गया। रात्रि में ही स्थानीय अस्पताल के लिए एम्बुलेंस को फोन किया गया।

इसे भी जरूर पढ़ें - 6 जून को फिर से आ रहा है पृथ्वी पर संकट, टकरा सकता है Astroid

फाइल फोटो


एम्बुलेंस भी समय से पहुंच गई। रात्रि में ही परिजन अफसाना को अस्पताल लेकर चल दिये। तभी गिरि के गड्डा से उनाके रास्ते मे रसूलपुर गाँव के पास एम्बुलेंस के सामने 4 बब्बर शेर आकर टहलने लगे।

चूंकि शेर झुंड में थे इस लिए ड्राइवर ने एम्बुलेंस को आंगे न बड़ा कर रोकना ही उचित समझा। एम्बुलेंस के रुकते ही वो चारो शेर उस एम्बुलेंस का चक्कर लगाने लगे।

इसे भी जरूर पढ़ें - क्या भगवान बुद्ध की थी अयोध्या, समतलीकरण में मिल रहे हैं प्रमाण Ayodhya me Buddha Math ke Praman

अफसाना की हालत सही नहीं थी तो नर्स ने उनकी डिलीवरी एम्बुलेंस में ही करना सही समझा। अफसाना ने एक बच्ची को जन्म दिया। बच्ची के जन्म लेते ही वो चारो शेर वहां से चले गए। 

बच्ची तथा उसकी माँ अफसान दिनों ही अब अस्पताल में हैं। और पूर्णता स्वस्थ हैं।